फिल्म ड्राय-डे स्क्रीनिंग 21 अप्रैल को 

0
272

झांसी। कई नामचीन शहरों में बुन्देली कलाकारों द्वारा तुगलक, कोर्ट मार्शल, मोटेराम का सत्याग्रह जैसे प्रसिद्वा नाटकों का उमंग एक नई उड़ान संस्था के बैनर तले मंचन किया है। अब संस्था द्वारा निर्मित शॉर्ट फिल्म ड्राय-डे की स्क्रीनिंग 21 अप्रैल को राजकीय संग्राहालय में की जायेगी। उक्त जानकारी शुक्रवार को संस्था के रवि रायक्वार ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए दी।
उन्होंने बताया कि संस्था ने बुन्देली कलाकारों से निर्मित एक शॉर्ट फिल्म ड्राय-डे का निर्माण निर्देशक कौस्तव रंजन की देख रेख में किया है। फिल्म की पटकथा आंतकवाद पर आधारित है। इस फिल्म का उदे्श्य लोगों तक यह पहुंचाना है कि किस तरह आज युवा भविष्य आंतकवादी जिहाद के नाम पर भटक रहा है। इसमें दर्शाया गया है कि हमें अपने देश के प्रति बफादार रहना चाहिए और किसी के भी बहकाबे में नहीं आना चाहिए। फिल्म अधिकतर शॉर्ट झांसी और बुन्देलखण्ड के हिस्सों से शूट किये है। इसमें बरूआसागर व बांदा भी शामिल है। फिल्म में 23 युवा कलाकार व एक युवती कलाकार ने अभिनय किया है। जो झांसी निवासी है। फिल्म को भारत सिंह यादव व मधुकर निरंजन ने मिलकर प्रोड्यूस किया है। फिल्म की स्क्रीनिंग 21 अप्रैल को दोपहर तीन बजे राजकीय संग्राहालय में की जायेगी। इस दौरान हरी शर्मा, रामस्वरूप, माता प्रसाद, रजनीश, प्रशांत, आनंद सागर, दिनेश, दीक्षा अरोरा आदि मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY